Showing posts with label CRIME. Show all posts
Showing posts with label CRIME. Show all posts

Smt. Suman Nain the then District Elementary Education Officer, Jhajjar Now District Education Officer, Mewa


deo jhajar suman nain.
chule purchase me gapla(purchase of cooking devices including gas stove, cylindersand other accessories for Mid Day Meal)
punishment-
Compulsory retirement,
Recovery of Rs 4,28,190
\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\
Hry Govt. ne Aaj General Tranfer sbke liye khol di h,ab 1 -30 June tk honge Transfer,Related Dept. k Minister ko Transfer krne ki Power di
\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\
2 jbt transfer today
satpal yadav-rewari
darshan lal -khokhar
http://harprathmik.gov.in/TOrd ers.html
\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\\
Distt. Ambala k Govt. Schools me KAL se students ki Summer Vaction suru h BUT Tchrs ko 31 May tk school jana h & children ka survey krna h.

9,000 जेबीटी के एचटेट प्रमाणपत्र-अध्यापकों के प्रमाण पत्रों की होगी जांच


 मुन्नाभाई स्टाइल से हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा (एचटेट) पास करके टीचर का पद पाने वाले गुरुजन के लिए मुसीबत खड़ी होने वाली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने मंगलवार को स्पष्ट कर दिया है कि पिछले साल नियुक्त सभी 9,000 जेबीटी के एचटेट प्रमाणपत्र की जांच होगी। जैसा कि हाई कोर्ट प्रवीण कुमारी के केस में निर्देश दे चुका है। इसके साथ ही हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता को कहा कि वह नियुक्ति पाए सभी 9,000 जेबीटी को चार सप्ताह के भीतर प्रतिवादी बनाने के लिए समाचारपत्र के माध्यम से नोटिस दे। सुनवाई के दौरान इस मामले में चल रही जांच पर कोर्ट ने असंतोष जताया। याचिकाकर्ता के वकील जसबीर मोर ने कोर्ट को बताया कि कोर्ट ने पिछले साल इन सभी चयनित टीचर के प्रमाणपत्र की जांच करने के शिक्षा विभाग को निर्देश दिए थे। इस बाबत शिक्षा विभाग के निदेशक ने उनको यह सूचित भी किया कि शिक्षा विभाग ने सभी चयनित टीचर के स्टेट फार्म से हस्ताक्षर व फोटो एकत्र कर लिए हैं और उनका मिलान भिवानी के पंचायत भवन में उनकी ओएमआर सीट से किया जाएगा लेकिन आठ महीने के बाद आज तक केवल 48 टीचर के प्रमाणपत्र की जांच की गई है। कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए कोर्ट रूम में मौजूद शिक्षा विभाग के अधिकारी को फटकार लगाई। जिस पर सरकार ने कोर्ट से मामले की जांच के लिए दो महीने का समय देने की मांग की। कोर्ट ने सरकार को तीन महीने का समय देते हुए 30 जुलाई तक पूरी जांच कर कोर्ट में रिपोर्ट देने का आदेश दिया। कोर्ट ने स्पष्ट कर दिया कि अगर यह जांच पूरी नहीं हुई तो जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ कोर्ट अवमानना के तहत कार्रवाई होगी।www.teacherharyana.blogspot.in

BEO mundlana(sonipat) suspend gas chullah purchasing me 450-850 wala dikhkaya 3170+vat


Brief facts of the case are that Shri Naresh Kumar, the then BECBeri Jhajjar, presently. BEO Mundlana (Sohepat), was placed undersuspension vide order dated 01-01-2008 and chargesheeted under Rule 7of Haryana Civil Services (Punishment and Appeal) Rules, 1987 videGovt. order No. 5/01-2008 HRG-(1) dated 21-11-2008, on the followingcharges and allegations:-
That Shri Naresh Kumar had procured ® Rs.3,170/- + 4%VAT gas chullah, pipe lighter and regulator from AmbalaCentral Co-operative Consumer Store Chandigarh,considering it to be a Govt. approved source, whereas it wasnot an approved source for such equipment in view of DirectorSupplies and Disposal, Haryana, Chandigarh Letter no. 28683dated 30-01-2008.
That the procurement was made © Rs.3170/- plus 4% VATper unit whereas similar equipment was procured in otherdistrict like Jind at rates Rs. 425/- and Rs. 850/-. As per reportof District Elementary Education Officer Jind, the actual priceof these gas chullahs were Rs.850/-.
3. In this way, he has violated the Rules of the Finance & thisDepth resulting in purchase of sub-standard material at ahigher cost. This has caused a loss of Rs. 8,56,380/- to the
state exchequer.
Thereafter, he replied to the said chargesheet on 16.06.2009.Finding his reply

See Also

Education News Haryana topic wise detail.